May 24, 2024

baatmuddeki

baatmuddeki

वाडिया हिमालय भूविज्ञान संस्थान द्वारा मनाया गया 55वां स्थापना दिवस

शुक्रवार को वाडिया हिमालय भूविज्ञान संस्थान ने अपना 55वां स्थापना दिवस बड़े धूमधाम से मनाया । इस मौके पर मुख्य अतिथि पदम भूषण डा० अनिल प्रकाश जोशी, संस्थापक, हिमालय पर्यावरण अध्ययन और संरक्षण संगठन (HESCO) तथा आदरणीय अतिथि भूतपूर्व निदेशक डा० वी०सी० ठाकुर, डा० एन०एस० विरदी एवं डा० मीरा तिवारी, संस्थान के वरिष्ठ वैज्ञानिकगण उपस्थित रहे।


डॉ अनिल प्रकाश जोशी ने अपने उपबोधन में ‘अर्थव्यवस्था एवं पारिस्थितिकी पर व्याख्यान दिया। उन्होंने कहा की पर्यावरण की किमत पर विकास किस तरह से मानवता के लिए हानिकारक है। GDP की तरह GEP (Gross Environmental Product) पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। कार्यक्रम में उपस्थित युवा शोधार्थियों का मनोबल बढ़ाते हुए पर्यावरण की देखभाल के लिये नये सिरे से खोज करने की सलाह भी दी है

कार्यक्रम में संस्थान के निदेशक डा० कालाचांद सांई द्वारा अपने अनुभव और ओजस्वी विचारों से उपस्थित कर्मचारियों और शोधकर्ताओं को अनुग्रहित किया…
इस अवसर पर भूविज्ञान के क्षेत्र में ‘मानवजनित गतिविधियों के कारण ग्रीनहाउस गैसों का उत्सर्जन में सर्वश्रेष्ठ शोध पत्र अवार्ड डा० कालाचांद सांई, कु० आयुषी बैसवार, डा० जयराम सिंह यादव, डा० राकेश भांबरी, डा० अर्जुन पांडे एवं डा० समीर कु० तिवारी को प्रदान किया गया… पुरूस्कार वितरण समारोह में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन का पुरूस्कार श्रीमति शालिनी नेगी रावत एवं श्री प्रतीक सिंह नेगी को दिया गया…

संस्थान के सभागार में आयोजित 55 वे स्थापना दिवस समारोह में संस्थान के वैज्ञानिक डा० विक्रम गुप्ता, डा० अजय पॉल, डा० आर०जे० पेरूमल, डा० आर०के० सहगल एवं समस्त कर्मचारी गण उपस्थित रहे…..