June 14, 2024

baatmuddeki

baatmuddeki

साईकल से भारत यात्रा पर निकली 24 वर्षीय आशा मालवीय पहुंची उत्तराखंड

उत्तराखंड पहुंची राष्ट्रीय खिलाड़ी एवं पर्वतारोही साइकिलिस्ट आशा मालवीय

महिला सशक्तिकरण और सुरक्षा को लेकर भारत यात्रा पर निकली मध्यप्रदेश की आशा मालवीय ने देहरादून पहुंच अपने लक्ष्य के 28 राज्यों में से 24 राज्यों की यात्रा को पूरा कर लिया है आशा मालवीय द्वारा उत्तराखंड के राज्यपाल, मुख्यमंत्री, DGP के साथ ही डीएम देहरादून सोनिका और SSP दलीप सिंह कुँवर एसपी देहात कमलेश उपाध्याय से मुलाकात की जहाँ DM,SSP द्वारा आशा मालवीय के हौसलों को बढ़ाते हुए सम्मानित भी किया गया वही आपको बता दें आशा मालवीय साईकल राइडर हैं जोकि महिला सुरक्षा और सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए 1 नवंबर 2022 को साईकल से देश भ्रमण पर मध्यप्रदेश राजगढ़ से निकली थी…. DM सोनिका और DIG देहरादून दलीप सिंह कुँवर ने भी आशा मालवीय एकल महिला साईकिल यात्री कर रहीं इस महिला सशक्तीकरण की पहल को सरहाते हुए कहा कि उनकी यात्रा महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाने का संदेश देती हैं तथा महिलाओं को हार न मानने के लिए जागरूक कर रही है….जोकि सराहनीय है…

DIG देहरादून दलीप सिंह कुँवर ने भी बढ़ाया आशा मालवीय का मनोबल की सराहना

वही राष्ट्रीय खिलाड़ी एवं पर्वतारोही आशा मालवीय ने कहा कि यदि मन में जज्बा हो तो कुछ भी असंभव नही है मैं देश की सभी महिलाओं और बेटियों को संदेश देना चाहती हूं जो महिला होने से अपने कदम पीछे हटा लेती है उनके हौसलों को बढ़ाने के लिए ही मेरे द्वारा साईकल से देश भर के भ्रमण का लक्ष्य रखा गया है जो जल्द ही अब पूरा भी होने वाला है

आपको बता दें कि आशा मालवीय राष्ट्रीय खिलाड़ी के साथ ही पर्वतारोही भी हैं जो ग्राम नाटाराम जनपद राजगढ मध्यप्रदेश की रहने वाली है आशा मालवीय द्वारा सम्पूर्ण भारत की यात्रा करने वाली (एकल महिला) हैं जो साइकिल से यात्रा करके महिला सुरक्षा और महिला सशक्तीकरण को लेकर देशवासियों को जागरूक कर महिलाओं को संदेश देना चाहती हैं आशा मालवीय 01 नवम्बर, 2022 को अपने गृह राज्य मध्यप्रदेश से साइकिल यात्रा पशुरू करते हुए इन्होंने 19750 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए 23 राज्यों का सफर तो पूरा कर उत्तराखण में 24वें राज्य के रूप में साइकिल यात्रा कर ली है… मालवीय द्वारा 28 राज्यों की कुल 25,000 किमी की साइकिल यात्रा पूरी करके देश की राजधानी दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 15 अगस्त, 2023 को अभियान का समापन करने का लक्ष्य रखा है

वही आशा मालवीय ने अपने इस साईकल यात्रा के दौरान खट्टी मीठे अनुभवों को भी (बात मुद्दे की) न्यूज़ के साथ साझा किया है उन्होंने बताया कि अब तक के सफर में सबसे ज्यादा अच्छा राज्य उन्हें उत्तराखंड लगा यहां के लोगों अधिकारी और राजनेता सभी बहुत अच्छे हैं जोकि महिला सशक्तिकरण को लेकर गंभीर है और उसे बढ़ावा देने के क्षेत्र में प्रयासरत भी है

आपको बता दें कि आखिर आशा मालवीय कौन है और किस परिवार से हैं ये एक निर्धन परिवार से हैं, जिनके पिता नही है, फिर भी उन्होंने अपने जज्बे और हौंसले को टूटने नही दिया आशा मालवीय अपनी साईकल यात्रा के दौरान अब तक विभिन्न राज्यों के 17 मुख्यमंत्री, 17 राज्यपाल लगभग 1 हजार IAS और 1 हजार IPS अधिकारियों के साथ ही 15 राज्यों के मुख्य सचिव एवं पुलिस महानिदेशक से मुलाकात कर चुकी हैं।